radheshyam tarj mein ramayan

मानस चिंतनप्रार्थना में दीन भाव जरूर बनाए रखें। दीन दयाल बिरिदु संभारी। हरहु नाथ मम संकट भारी।।

मानस चिंतनप्रार्थना में दीन भाव जरूर बनाए रखें। दीन दयाल बिरिदु संभारी। हरहु नाथ मम संकट भारी।। Read More »