ga('create', 'UA-XXXXX-Y', 'auto'); ga('send', 'pageview'); about us - manaschintan
Spread the love

about us

मानस चिंतन, राम चरित मानस, और रामायण, सभी हिंदू धर्म के महत्वपूर्ण ग्रंथ हैं जो संस्कृति, धर्म, और नैतिकता के माध्यम से मानवता के उत्थान को प्रेरित करते हैं। राम चरित मानस, तुलसीदास द्वारा रचा गया, एक महत्वपूर्ण हिंदी ग्रंथ है जो रामायण की कथा को आम लोगों के बीच पहुँचाने का कार्य करता है। इस ग्रंथ में राम की कहानी, उनके गुण, और उनके जीवन के साथ जुड़े विभिन्न पहलुओं को बताया गया है। यह ग्रंथ हिंदू धर्म की महत्वपूर्ण पौराणिक कथाओं में से एक है। रामायण, वाल्मीकि द्वारा रचित, भारतीय साहित्य का एक प्रमुख महा काव्य है। इसमें भगवान राम की जीवनी, उनके धर्म, नैतिकता, और परिवार के साथ उनके संघर्षों का विवरण है। यह ग्रंथ भारतीय समाज में एक उच्च नैतिक और आध्यात्मिक मानक के रूप में माना जाता है और भारतीय सभ्यता के एक महत्वपूर्ण हिस्से के रूप में विश्वसनीय है। संतों के विचार भी धार्मिक और आध्यात्मिक सिद्धांतों का महत्वपूर्ण स्रोत हैं। वे अपने जीवन के माध्यम से धर्मिक उपदेशों को अपनाते हैं और समाज को उन उपदेशों के माध्यम से दिशा देते हैं। उनके विचार और उनके जीवन की कथाएं लोगों को आध्यात्मिक और नैतिक संदेशों को समझने में मदद करती हैं और सही राह पर चलने के लिए प्रेरित करती हैं।

Our Mission

श्री रामचरित अर्थात श्री राम जी के जीवन के क्रिया कलापों को पढ़कर या जानकर यदि हमने अपने मानस (मष्तिष्क या मन ) मे नहीं रखा तो पढ़ना ,जानना, समझना सब व्यर्थ है। और जीवन में नहीं उतारा तो जीवन भी व्यर्थ ही है। रामचरित को शिव जी ने कथाबद्ध कर के अपने मन-मष्तिष्क मे रख लिया।

Our Values

हम अपने पाठकों के लिए हर संभव प्रयास करते हैं, चाहे कोई भी चुनौती क्यों न हो। ईश्वर की कृपा से हमारा लक्ष्य अपनी सेवाओं में हर दिन अपना सर्वश्रेष्ठ काम करना है।

मानस चिंतन का मुख्य आधार बाबा तुलसी कृत राम चरित मानस एवं संतों का मत हैं।

MAHENDER UPADHYAY