ga('create', 'UA-XXXXX-Y', 'auto'); ga('send', 'pageview'); home - manaschintan

मानस चिंतन तुलसी कृत रामायण में दोहा चौपाई अर्थ सहित कई ऐसे मंत्र हैं कवि का मूल उद्देश्य राम के चरित्र के माध्यम से सभी मानव समाज को नैतिकता एवं सदाचार की शिक्षा देना रहा है।सिय राम मय सब जग जानी।करहु प्रणाम जोरी जुग पानी ॥पूरे संसार में श्री राम का निवास है, सब में भगवान हैं और हमें उनको हाथ जोड़कर प्रणाम कर लेना चाहिए। (सूत्र) दवाई खाकर, पीकर,सूंघकर ,लगाकर,पर केवल कथा ही है जो सुन कर विश्राम देती है! तुलसी बाबा ने इस ग्रंथ तो अपने अंतर के सुख ,अपने ह्र्दय के आनन्द के लिए लिखा।